Untitled Document

‘संस्था का नाम भी सुन्दर है और संस्था द्वारा विकलांगो के लिए तथा अन्धता के निवारण हेतु कार्य भी सेवा भावना के साथ किया जा रहा है। समाज के अन्य लोगों को इसमें सहायता करनी चाहिये, क्योंकि यदि इसे आप धार्मिक कार्य समझकर करेंगे तो धर्म आपकी रक्षा करेगा।

  

-   ‘कांचीकाम कोटि पीठाधीश्वर जगद्गुरू शंकराचार्य स्वामी’
जयेन्द्र सरस्वती महाराज


‘कल्याणं करोति’ विकलांगा की सेवा का सुन्दर कार्य कर रही है जो व्यक्ति भूखे को अन्न, नंगों को वस्त्र, दुःखी को सुखी, रोगी को औषधि नहीं दे सके उस व्यक्ति का जीवन व्यर्थ है। यदि किसी कारण से हम अंग विहीन हो जाये तो सोचिये हमारी क्या दशा होगी। इस दिशा में ‘कल्याणं करोति’ द्वारा कृत्रिम अंग प्रदान करने का जो कार्य किया जा रहा है, वह अभिनन्दनीय एवं प्रशसनीय है।

  

-   स्वामी अखण्डानन्द सरस्वती
आनन्द वृन्दावन चैरिटेबिल ट्रस्ट,


कल्याण्ंा धाम वस्तुतः श्री कृष्ण का ही धाम है। धाम शब्द परमात्मा के लिए समर्पित है। इसकी शरण में जो जायेगा उसके पाप स्वयं नष्ट हो जायेंगे। । आप अपने शरीर का कल्याण करना चाहें, कल्याण धाम में आपका स्वागत है। कल्याण धाम को केवल रोगियों के ही कल्याण की जगह मत समझना, यह सबके लिए कल्याणकारी है।

  

-   स्वामी श्री गुरूशरणानन्द जी महाराज
रमण रेती, महावन (मथुरा)


इस प्रभु कार्य के लिए साधुवाद। मैं भी प्रभु प्रार्थना जोड़ रहा हँू, राम सुमिरन के साथ,

  

-   संत मोरारी बापू
प्रखात कथा गायक


मुझे आज ‘कल्याणं करोति’ की ओर से आयोजित 2 दिवसीय विकलांग सेवा शिविर कल्याण धाम, (मथुरा) में भाग लेने का सुअवसर मिला। कल्याणं करोति मानव कल्याण का काम कर रही है। मैं इस कार्य की सराहना करता हँू। मैं इस काम की सफलता की भी कामना करता हँू।

  

-   बी0 सत्यनारायण रेड्डी
राज्यपाल, उत्तर प्रदेश


The organization is doing commandable work. It needs encouragement and support from all good people and organisation. I wish all success to this organization.

  

-   Suraj Bhan
Governer, Uttar Pradesh


‘‘भगवान श्री मथुरा साक्षात् आनन्दकन्द सच्चिदानन्द भगवान श्री कृष्ण की जन्मभूमि है। यह सप्त पुरियों मेें एक मोक्षदायिनी पुरी है। यहाँ एक और पारलौकिक कल्याण साधन करते है साधक, दूसरी ओर ‘कल्याणं करोति’ संस्था के माध्यम से संस्थापित कल्याण धाम, लौकिक कल्याण में प्रवृत्त है। अन्धहीन को समाज उपेक्षा की दृष्टि से देखता है जबकि उन्हें पे्रम एवं स्नेह का भाजन बनाना चाहिए। कल्याण धाम के माध्यम से विकलांगो को आत्मनिर्भर संगोपांग बनाकर समाज को संस्था ने बडी अनुपम देन दी है। ’’ हम सभी दानदाताओं बन्धुओं से आग्रह करेंगे कि मुक्त हस्त से दान देकर पुण्य के भागी बनें।’’

  

-   नृत्य गोपाल दास
श्री मणिराम छावनी, श्री अयोध्या जì


मथुरा में ‘कल्याणं करोति’ की ओर से आयोजित द्विदिवसीय विकलांग सेवा शिविर ‘कल्याणं धाम’, मथुरा में भाग लेने का सुअवसर मिला। ‘कल्याणं करोति’ मानव कल्याण का काम कर रही है। मैं इस कार्य की सराहना करता हूँ। मैं इस काम की सफलता की कामना करता हूँ।

  

-   श्री मोती लाल बोरा
राज्यपाल, उत्तर प्रदेश


आपके कार्य की जानकारी से बहुत प्रसन्नता हुई। मेरी शुभकामानाऐं आप समाज सेवा के इस कार्य में हमेशा सफल हो।

  

-   वी के सिहं
(से.नि.)


Very good work, very well organized camp please keep it up so that the fortuned can avail of the latest medical facility and live a normal life.

  

-   Ravi kant
Vice chairman (TATA Motors)


I am blessed and extremely happy to be associated with an event that is oriented forwards helping those who are in need. This effort helps them to hold their head high and live their life with dignity. Best wishes

  

-   W.V. K. Krishna Shankar
Director/IS&P (BHEL)


संसार में सक्षम एवं पूर्ण रूप से समर्थ के लिये हजारों मार्ग है। मानवीय पीड़ा में मानसिक शारीरिक अक्ष्मताओं की पूर्ति, सहयोग एवं जीवन अपक्षित कम से कम रहे इस ओर दी गयी शिक्षा पूर्ण मानवीय हैं सहयोगी उपकरण देकर उपकृत तथा शारीरिक रोगों से भी उन्हें मुक्ति देकर कार्य करने वाला कल्याणं करोति संस्था के सभी उपकृत है। एक स्थान ऐसी है जहाँ अक्ष्म आश्रय भी है।

  

-   प्रो. दुर्ग सिहं चैहान
कुलपति ( जी. एल. ए. विश्वविद्यालय, मथुरा )


कल्याणं करोति संस्था ने समाज सेवा में जो महान कार्य किया है हम इसके लिये नतमस्तक हूँ ईश्वर आपको शक्ति दे आप ऐसे ही सेवा कार्य से मानव कल्याण करते रहे।

  

-   राजबब्बर
(अभिनेता)


Kalyanam Karoti is performing extraordinary Sewa by serving the needy, that’s the real practice of Dharma. I personally appreciate their Sewa work and Pray from my bottom of my heat for Heir unconditional work.

  

-    स्वामी श्री पुण्डरीक गोस्वामी जी महाराज